June 14, 2024

Lucknow- नगर आयुक्त ने दिया निर्देश:शहर में प्याऊ,तथा छाव के किये जायेंगे इंतजाम

1 min read

 

हीट वेव/लू से बचाव हेतु नगर निगम लखनऊ द्वारा सभी तैयारियां पूरी, जारी किए गए आवश्यक दिशा निर्देश

 

नगर आयुक्त इंद्रजीत सिंह के निर्देशानुसार नगर निगम लखनऊ द्वारा हीट-वेव से प्रभावित होने वाले क्षेत्रों का चिन्हीकरण कराते हुए उन क्षेत्रों में तथा नगर निगम के अन्तर्गत आने वाले समस्त पार्कों एवं दर्शनीय स्थलों पर आने वाले पर्यटकों हेतु छाया एवं पेयजल की समुचित व्यवस्था कराए जाने के निर्देश जारी किए गए

नगर निगम के अन्तर्गत कार्य करने वाले समस्त कर्मचारियों के कार्य के समय में परिवर्तन कराते हुए उन्हें प्रातः जल्दी तथा सायं को देर तक कार्य करने के निर्देश जारी

नगर निगम के अन्तर्गत आने वाले समस्त स्थायी रैन बसेरों में भीषण गर्मी से बचाव हेतु पेयजल, पंखे इत्यादि की व्यवस्था सुनिश्चित करवाने हेतु आदेशित किया गया

उक्त के अतिरिक्त नगर आयुक्त द्वारा प्राथमिकता के आधार पर निम्नलिखित गतिविधियों को किये जाने हेतु निर्देशित किया गया है:-

1. भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर जनमानस हेतु शीतल एवं शुद्ध पेयजल की व्यवस्था।

2. गर्मी से बचाव हेतु शेल्टर्स की व्यवस्था।

3. व्यस्त स्थानों पर मौसम के पूर्वानुमान तथा तापमान का डिस्प्ले।

4. हीटवेव से बचाव हेतु उपायों का जनमानस में व्यापक प्रचार-प्रसार।

5. विद्यालयों में हीटवेव से बचाव हेतु उपायों का जनमानस में व्यापक प्रचार-प्रसार।

नगर आयुक्त द्वारा हीट वेव से बचाव हेतु बेहतर व्यवस्थाओं हेतु जलकल विभाग को निम्नलिखित निर्देश जारी किए गए:-

1. नगरीय निकायों में पेयजलापूर्ति के लिये विशेष अभियान चलाकर समस्त नलकूप चालू हालत में रखे जायें तथा बन्द पड़े नलकूपों को ठीक कराकर चालू किया जाय।

2. नलकूपों की मुख्य पाइपलाइनों से बस्तियों में आपूर्ति होने वाली पाइपलाइनों की टूट-फूट की मरम्मत एवं जल रिसाव के स्थानों को चिन्हित करते हुए उनकी मरम्मत करायी जाय ताकि बस्तियों में स्वच्छ जल की आपूर्ति हो सके।

3. समय-समय पर जल शुद्धिकरण हेतु क्लोरीनीकरण कराया जाय।

4. पेयजल की गुणवत्ता के अनुश्रवण के लिये यूजर एण्ड प्वाइन्ट (उपभोक्ता द्वारा उपयोग प्वाइंट) पर जल के नमूने एकत्र कर उनका नियमित रूप से बैक्टीरियोलॉजिकल / वायरोलॉजिकल जाँच करायी जाय।

5. जिन क्षेत्रों में पेयजल की सप्लाई हैण्डपम्प से हो रही है, उन इलाकों में यथावश्यक क्लोरीन के टेबलेट का उचित मात्रा में वितरण कराया जाय।

6. जिन क्षेत्रों में पेयजल बाधित हो, वहाँ पर के माध्यम से पेयजल आपूर्ति करायी जाय।

7. नगरीय क्षेत्र में सीवर लाइन तथा पानी की पाइप लाइन की चेकिंग की जाय, यदि कही सीवर अथवा पानी की पाइप लाइन में ब्रेकेज अथवा लीकेज पायी जाती है, तो उसे तत्काल सही किया जाय। उक्त लीकेज के सही होने तक संबंधित क्षेत्र में सुरक्षित पेयजल आपूर्ति हेतु वैकल्पिक व्यवस्था सुनिश्चित की जाय।

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error

Enjoy this blog? Please spread the word :)